google-site-verification=mJzyi0LLw_FWwr1InYHKOiQyiKv2jqaHPMXbshTnDjk #Mitti_kiKhusboo - Indian Diaspora

Announcement

Collapse
No announcement yet.

#Mitti_kiKhusboo

Collapse
X
  • Filter
  • Time
  • Show
Clear All
new posts

  • #Mitti_kiKhusboo

    First post in Hindi form India to our NRI/PIO brothers. If anyone feel uneasy with Hindi, we will send translated post.
    thanks

    अभी इतिहासकार व विवेकानंद विश्वविद्यालय, मध्य प्रदेश के पूर्व कुलपति प्रो. मणि कुमार बात हो रही थी। चर्चा के केंद्र में प्रवासी थी। बीच में उन्होंने चीनी प्रवासियों की तुलना भारतीय प्रवासियों से की। लंबी बातचीत के छोटे से हिस्से में...

    "अध्ययन-अध्यापन के काम से मैंने पूरी दुनिया घूमा है। मेरा अपना अनुभव है कि चीनी प्रवासी अपने देश से बाहर अकेले नहीं जाते। वह साथ में अपनी भाषा, रहन-सहन, संस्कृति भी ले जाते हैं। वह अपनी पुरानी अस्मिता नहीं छोड़ते। और इसे जाहिर करने में उन्हें झिझक भी नहीं होती। काफी हद तक यही बात जापानियों पर भी लागू होती है।
    वहीं, हम भारतीय बाहर अकेले जाते हैं। हम अपनी संस्कृति साथ ले जाना पसंद नहीं करते। इसकी बहुत सी वजहें है। जिसकी गहरायी में जाना मुद्दे से भटकना होगा। लेकिन मुझे इसका सीधा असर यह दिखा कि विदेशी संस्कृति हम पर हावी हो जाती है। (कई बार तो देश के भीतर भी इसे देखा जा सकता है। गांव से निकले लोग शहर पहुंचते ही जो पहला काम करते हैं, वह अपनी मूल संस्कृति ही विलगाव होता है।)
    तीस-चालीस साल तक ठीक चलता है। लेकिन पाश्चात्य संस्कृति में पले-बढ़े बच्चे जब हमारे साथ व्यवहार भी वैसा ही करते हैं तो हमें अटपटा लगता है। तब जाकर हमें अपनी संस्कृति याद आती है। हम तुलना करते हैं, भारतीय संस्कृति का पाश्चात्य से। वह भी आज की नहीं, तीस चालीस साल पहले की।
    उन्हें याद आता है। कि शरीर से भले ही वह पश्चिमी हो गये हों। लेकिन आत्मा अभी भी भारतीय है। अब हम अपने बच्चों को भारत/भारतीय संस्कृति के बारे में बहुत-कुछ बता देना चाहते हैं। लेकिन उनकी यादश्दास्त भी उस दायरे को लांघ नहीं पाती, जिसमें उन्होंने खुद भी बहुत-कुछ भुला दिया है।
    यह सब देखने, समझने के बाद ही मुझे लगता है कि भारतीयों को यहां से अकेले कतई नहीं जाना चाहिये। हम चीनी न बनें, लेकिन यह भी न हो कि खुद को अपनी जड़ से ही उखाड़ फेंके।?"
    #Mitti_kiKhusboo

  • #2
    आशा है मिटटी की खुशबू (#Mitti_kiKhusboo) प्रवासी भारतियों के लिए एक कड़ी का काम करेगी.

    Comment

    Working...
    X